Tue 02 06 2020
Home / 2019 / November / 04

Daily Archives: November 4, 2019

पटवारी अनोखीलाल कुण्डला निलम्बित

     शाजापुर,  नामांतरण पंजी में बार-बार काट-छांट करने को लेकर कलेक्टर डॉ. वीरेन्द्र सिंह रावत ने गुलाना तहसील के हल्का क्रमांक 16 के पटवारी अनोखीलाल कुण्डला को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। पटवारी कुण्डला के बेदारनगर में पदस्थी के दौरान वर्ष 2016 में तत्कालीन पीठासीन अधिकारी द्वारा आदेश पारित किया गया था, इसके अमल में पटवारी द्वारा नामांतरण पंजी में बार-बार काट-छांट की गई एवं व्हाईटनर का प्रयोग किया गया। इससे प्रथम दृष्टया नामांतरण पंजी पर किया गया बटवारा संदिग्ध प्रतीत होने के कारण पटवारी को निलम्बित किया गया है। उक्त कृत्य शासकीय दस्तावेजो में हेराफेरी व मध्यप्रदेश सिविल आचरण नियम 1965 के प्रावधानो का उल्लंघन है। Read More »

मुख्यालय छोड़ने पर प्रतिबंध -अयोध्या प्रकरण

 शाजापुर,  उच्चतम न्यायालय द्वारा अयोध्या प्रकरण में किसी भी दिन आदेश पारित किये जाने की संभावना को देखते हुए कलेक्टर डॉ. वीरेन्द्र सिंह रावत ने जिले में शांति एवं प्रशासनिक व्यवस्था सुचारू बनाए रखने के लिए समस्त जिला अधिकारियो को आगामी आदेश तक बिना अनुमति के मुख्यालय नहीं छोड़ने के आदेश दिये हैं। कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के अनुसार अति आवश्यक आकस्मिक परिस्थितियों को छोड़कर किसी भी प्रकार के अवकाश पर नहीं जाने के लिए अधिकारियों से कहा गया है। साथ ही अधिकारियों से कहा गया है कि वे स्वयं मुख्यालय पर रहें और अपने अधीनस्थ कार्यालयों तथा क्षेत्रीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी इस अवधि में अवकाश पर प्रस्थान करने की अनुमति नहीं देने व मुख्यालय पर रहने के लिए पाबंद करने हेतु कहा गया है। Read More »

शांति समिति की बैठक का आयोजन

पोलाय कला अयोध्या मामले के फैसले को दृष्टिगत रखते हुए थाना अवंतिपुर बड़ोदिया के अंतर्गत पोलाय कला चौकी पर शांति समिति की बैठक का आयोजन किया गया बैठक की अध्यक्षता तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव ने की तथा  थाना प्रभारी कृष्णकांत चौबे उपस्थित थे इस अवसर पर तहसीलदार  Read More »

प्रोटेक्शन एक्ट की मांग को लेकर अभिभाषक संघ ने सौंपा ज्ञापन

शाजापुर। अभिभाषकों के साथ लगातार हो रही मारपीट के विरोध में सोमवार को अभिभाषकों ने प्रतिवाद दिवस मनाते हुए ज्ञापन सौंपा। कार्य से विरत रहकर नारेबाजी करते हुए अभिभाषक कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और कलेक्टर डॉ वीरेंद्रसिंह रावत को मुख्यमंत्री मध्यप्रदेश शासन के नाम ज्ञापन सौंपा। Read More »

राजनीतिक द्वेषता के चलते मप्र के साथ भेदभाव कर रही मोदी सरकार,

शाजापुर। केंद्र की मोदी सरकार द्वारा मध्यप्रदेश की जनता के साथ किए जा रहे सौतेले व्यवहार के खिलाफ कांग्रेस पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर हस्तक्षेप कर राहत राशि दिलाए जाने की मांग की। सोमवार को कांग्रेस पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने बस स्टैंउ परिसर में धरना प्रदर्शन किया और इसके बाद एसडीएम यूएस मरावी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपकर बताया कि इस वर्ष अतिवर्षा के कारण मध्यप्रदेश के किसानों और आमजन का Read More »

विद्युत बिलों की शिकायतों के निवारण हेतु विषेष षिविर

     शाजापुर, कलेक्टर डॉ. वीरेन्द्र सिंह रावत के निर्देश पर पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के अधीक्षण यंत्री द्वारा कलेक्ट्रेट में मंगलवार 05 नवम्बर को होने वाली जनसुनवाई के दौरान विद्युत देयकों के संबंध में शिकायतों एवं गड़बड़ी के निवारण हेतु विशेष शिविर आयोजित किया गया है। Read More »

डॉ. विभूति अन्तर्राष्ट्रीय सेमिनार में पढ़ेंगे शोधपत्र 

शाजापुर। डॉ. बीआर अम्बेडकर अध्ययन केन्द्र, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र हरियाणा द्वारा डॉ. बीआर अम्बेडकर का सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन का दृष्टिकोण विषय पर एक अंतर्राष्टÑीय सेमिनार का आयोजन 7-8 नवम्बर को आयोजित किया जा रहा है। इसमें शासकीय महाविद्यालय मोहन बड़ोदिया में राजनीति विज्ञान के प्राध्यापक डॉ. बीएस विभूति अपने चयनित शोधपत्र अम्बेडकर की पत्रकारिता का वाचन करेंगे। यह सेमिनार भारतीय सामाजिक विज्ञान अनुसंधान परिषद द्वारा प्रायोजित है। Read More »

अपनी नैतिक जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ रही केन्द्र सरकार : अपराजिता पांडे

प्रेसवार्ता में बताई प्रभावित इलाकों की दुर्दशा शाजापुर। वर्तमान में जनता को सहायता की आवश्यकता है। क्योंकि हाल ही में प्रदेशवासियों ने जल प्रलय झेला है। ऐसे में राजनीति की राह छोड़कर सभी को एक-दूसरे के साथ काम करना चाहिए। कांग्रेस तो जनता की सेवा के लिए सभी को साथ लेकर चलने को तैयार है, लेकिन शायद भाजपा विधानसभा की हार से अब तक सदमे मेंं है और वह पीड़ितों की सुध लेना तो दूर सत्ताधारी पार्टी से द्वेष पाल रही है जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है। कई इलाके ऐसे हैं जो भाजपा की द्वेषतापूर्ण नीतियों की वजह से अब तक जलप्रलय से हुए नुकसान से उबर नहीं पाई है। Read More »