Fri 26 11 2021
Home / Breaking News /  1500 मेगावाट क्षमता की सोलर पार्क का सीएम ने किया भूमि पूजन और शिलान्यास
 1500 मेगावाट क्षमता की सोलर पार्क का सीएम ने किया भूमि पूजन और शिलान्यास

 1500 मेगावाट क्षमता की सोलर पार्क का सीएम ने किया भूमि पूजन और शिलान्यास

शाजापुर। आगर, शाजापुर एवं नीमच में 5250 करोड़ के निजी निवेश से स्थापित होने वाले 1500 मेगावाट क्षमता की सोलर पार्क का भूमि पूजन कर शिलान्यास मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शाजापुर के आईटीआई परिसर में आयोजित कार्यक्रम से किया। गुरुवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान एवं भारत सरकार के ऊर्जा, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री आरकेसिंह ने प्रदेश के आगर-मालवा, शाजापुर एवं नीमच जिले में निजी निवेश 5250 करोड़ रुपए लागत से स्थापित होने वाले 1500 मेगावाट क्षमता के सोलर पार्क का भूमि पूजन कर शिलान्यास किया। साथ ही मुख्यमंत्री चौहान एवं केन्द्रीय मंत्री सिंह ने कार्यक्रम स्थल पर ही शाजापुर जिले में 88.66 करोड़ रुपए लागत के 89 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। कार्यक्रम की शुरूआत कन्या पूजन के साथ की गई। उल्लेखनीय है कि रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर लिमिटेड जो कि ऊर्जा विकास निगम एवं सोलर कार्पोरेशन ऑफ इंडिया की संयुक्त कंपनी है, के माध्यम से आगर में 550 मेगावाट, शाजापुर में 450 मेगावाट एवं नीमच में 500 मेगावाट इस प्रकार तीनों जिलों में कुल 1500 मेगावाट की सौर परियोजनाओं को विकसित करेगी, जिसको लेकर शाजापुर में कार्यक्रम किया गया। इस मौके पर मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2030 तक देश की ऊर्जा आवश्यकता की 50 प्रतिशत आपूर्ति सौर ऊर्जा से करने के लक्ष्य की ओर तेजी से बढ़ रहा है। इसे तय सीमा में हासिल करने हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रदेश में प्रतिदिन 5300 मेगा वॉट से अधिक सौर ऊर्जा का उत्पादन हो रहा है। पर्यावरण सुरक्षा की दृष्टि से भी सौर ऊर्जा पर विशेष जोर दिया जा रहा है। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने हर गरीब की झोपड़ी तक बिजली पहुंचाई है। मध्यप्रदेश आज बिजली उत्पादन में आत्मनिर्भर है। प्रदेश में प्रतिदिन 22 हजार मेगा वॉट बिजली का उत्पादन हो रहा है। राज्य सरकार पानी, कोयले, हवा और सूरज सभी माध्यमों से बिजली बना रही है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि बिजली बचाएं, पेड़ लगाएं और कोरोना के टीके लगवाकर स्वयं, परिवार, प्रदेश एवं देश को सुरक्षित करें। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान और केन्द्रीय ऊर्जा और नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री आरकेसिंह ने 5250 करोड़ रुपए की लागत के 1500 मेगा वॉट क्षमता वाले आगर, शाजापुर और नीमच के सौर ऊर्जा पार्क के क्रय अनुबंध पर हस्ताक्षर एवं भूमि-पूजन किया। उन्होने निजी निवेशकों के साथ प्रधानमंत्री कुसुम अ योजना के अनुबंध पर भी हस्ताक्षर किए। मुख्यमंत्री चौहान ने ऊर्जा के क्षेत्र में जनजागरूकता के उद्देश्य से चलाए जाने वाले ऊर्जा साक्षरता अभियान ऊषा का शुभारंभ भी किया। वहीं केन्द्रीय ऊर्जा एवं नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री सिंह ने कहा कि सरकार ने हर गांव, हर घर तक बिजली पहुंचा दी है। यदि कोई घर छूट गया हो तो बता दें, वहां भी बिजली पहुंचा दी जाएगी। सरकार ने एक लाख 59 हजार किलोमीटर बिजली ग्रिड बनाई है और लेह, लद्दाक तक हर घर में बिजली पहुंचाई है। हमारी आज प्रतिदिन एक लाख 12 हजार मेगा वॉट बिजली हस्तांतरण की क्षमता है। केन्द्रीय मंत्री सिंह ने कहा कि देश में सौर ऊर्जा के माध्यम से साफ और सस्ती बिजली उपलब्ध कराने पर तेज गति से कार्य हो रहा है। इस क्षेत्र में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में अनुकरणीय कार्य हो रहा है। सौर ऊर्जा उत्पादन में मध्यप्रदेश देश में अग्रणी राज्य के रूप में उभरा है। सिंह ने बताया कि भारत सरकार द्वारा नवम्बर माह तक गरीबों को नि:शुल्क राशन प्रदाय की योजना को अब 31 मार्च 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना के दोनों टीके लगवाकर स्वयं, परिवार, प्रदेश एवं देश को सुरक्षित करें। उन्होने कहा कि प्रदेश में गरीबों को 100 रुपए मासिक दर पर बिजली उपलब्ध कराई जा रही है। सरकार हर वर्ष बिजली बिलों पर 21 हजार करोड़ रुपए का अनुदान दे रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह अत्यंत खुशी की बात है कि गत 5 वर्षों में मध्यप्रदेश में बेटियों की संख्या प्रति हजार 905 से बढक़र 956 हो गई है। प्रदेश में बेटियों के कल्याण के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना सहित उनके शैक्षणिक, स्वास्थ्य और आर्थिक विकास के लिए भी अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं।
हर व्यक्ति को मिलेगा रोटी, कपड़ा और मकान
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में हर व्यक्ति के लिए रोटी, कपड़ा, मकान, दवाई,  पढ़ाई और रोजगार का इंतजाम किया जा रहा है। सरकार उचित मूल्य राशन, पक्के आवास, आवासीय भू अधिकार, शिक्षा के लिए फीस, नि:शुल्क इलाज, रोजगार, स्व रोजगार की व्यवस्था कर रही है। आगामी एक वर्ष में एक लाख से अधिक सरकारी नौकरियों में भर्ती की जाएगी। स्व रोजगार के लिए शहरी एवं ग्रामीण पथ विक्रेता योजनाएं चलाई जा रही हैं। मुख्यमंत्री युवा उद्यम क्रांति योजना के माध्यम से 50 लाख रुपए तक का ऋण युवा उद्यमियों को सरकार की गारंटी पर दिलाया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए स्व सहायता समूहों को मजबूत बनाया जा रहा है और उन्हे विभिन्न गतिविधियों के लिए आगामी एक वर्ष में 2500 करोड़ रुपए की राशि दिलवाए जाने की योजना है। मुख्यमंत्री चौहान ने अधिक से अधिक महिलाओं से स्व सहायता समूहों से जुडऩे की अपील की।
मुख्यमंत्री ने किया लोकार्पण और शिलान्यास
मुख्यमंत्री चौहान ने जिले में शासकीय विधि महाविद्यालय भवन शाजापुर, संयुक्त तहसील कार्यालय भवन पोलायकलां, अवंतिपुर बड़ोदिया, शासकीय महाविद्यालय भवन मोमन बड़ोदिया, शासकीय आयुर्वेदिक औषधालय रनायल, वन स्टॉप सेंटर भवन शाजापुर, पिपल्यागुर्जर बेराज, नवीन पुलिस थाना मोमन बड़ोदिया, शाजापुर ट्रामा सेंटर के समीप एवं पशु चिकित्सालय परिसर नई सडक़ पर निर्मित डीलक्स सुलभ कॉम्प्लेक्स का लोकार्पण किया। साथ ही शहर में निर्मित होने वाले चीलर नदी सपरीपुरा पुल निर्माण, मां राजराजेश्वरी मंदिर परिसर प्राचीन बावड़ी का जीर्णोंद्धार, वार्ड 13 एवं 28 में सीसी रोड, आरसीसी नाली एवं पुलिया का निर्माण, वार्ड 27 ज्योतिनगर में हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी तक सीसी रोड निर्माण,  वार्ड 26 में सीसी रोड निर्माण, कलेक्टर कार्यालय के सामने एबी रोड एवं सर्विस रोड के मध्य सौन्द्रर्यीकरण, शहर के मुख्य मार्ग एबी रोड के ट्रेफिक पाईंट, टंकी चौराहा, धोबी चौराहा, दुपाड़ा रोड तिराहा पर एडवांस सोलर ट्रेफिक सिग्नल निर्माण, एसडीआरएफ योजना अंतर्गत नाला निर्माण, मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना तृतीय चरण के अंतर्गत विकास कार्य, जलजीवन मिशन अंतर्गत 29 रेट्रोफिटिंग कार्य, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के 32 निर्माण कार्य, जिला पंचायत शाजापुर के अंतर्गत ग्राम पंचायत मगरोला, मायापुर, रानी बड़ौद, निवालिया, भीलखेड़ी, जाबडिय़ा घरवास, बेरछादातार,  जाबडिय़ा भील, खरदौनकलां के पंचायत भवन निर्माण कार्य तथा शाजापुर से बिजाना मार्ग का शिलान्यास किया गया।
उत्कृष्ट कार्य करने वाले सम्मानित
समारोह के दौरान मुख्यमंत्री चौहान ने जिले में उत्कृष्ट कार्य करने वालों एवं विभिन्न योजनाओं के तहत हितग्राहियों को हितलाभ का वितरण किया। मुख्यमंत्री चौहान ने विगत दिनों प्रदेश में आयोजित हुई लोगों डिजाईन प्रतिस्पर्धा में आकर्षक लोगो डिजाईन करने वाले भोपाल के आशीष श्रीवास्तव को चैक देकर सम्मानित किया। इसी तरह राज्यस्तरीय रहीम सम्मान वर्ष 2016 के लिए शुजालपुर के पुरूषोत्तम पारवानी को प्रशस्ति पत्र, लाड़ली लक्ष्मी योजना अंतर्गत वेदही पिता राजेश, लाड़ली लक्ष्मी छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत यामिनी पिता मुकेश दुबे, मुख्यमंत्री कोविड 19 बाल कल्याण योजना एवं पीएम केयर फॉर चिल्ड्रन योजना अंतर्गत सोहनी पिता सत्येन्द्र बिरथरे को प्रमाण प्रदान किए गए। आयुष्मान भारत योजना के तहत कलावतीबाई एवं लखन सूर्यवंशी को कार्ड वितरित किया गया। डंगीचा की दीपिका बाई को ग्रामीण पथ विक्रेता योजना अंतर्गत 10 हजार रुपए की ऋण राशि का प्रमाण पत्र दिया गया। इसी तरह मप डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत एकता सामुदायिक सहयोग संस्था सीएलएफ की राशि एवं मोमन बड़ोदिया के 28 स्व सहायता समूह,  शुजालपुर के 34 स्व सहायता समूह इस प्रकार कुल 62 स्व समूह को एक करोड़ 24 लाख रुपए का चैक प्रदान किया गया। ग्राम पंचायत प्रधान सरपंच पटलावदा सुनीता देवी कनाडिय़ा, भंवरसिंह पंवार एवं रूलकी मधु पाटीदार को ग्राम पंचायत में कारोना वैक्सीन के दोनों डोज शतप्रतिशत ग्रामीणों को लगवाने के लिए सम्मानित किया गया।
प्रदर्शनी का किया अवलोकन
मुख्यमंत्री चौहान और केन्द्रीय ऊर्जा और नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री सिंह ने कार्यक्रम स्थल पर विभिन्न विभागों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान महिला स्व सहायता समूहों के उत्पादों का प्रमुखता से प्रदर्शन किया गया। मुख्यमंत्री चौहान ने उन्हे ध्यान से देखा, संबंधितों से बातचीत कर उत्पादों की सराहना की। कार्यक्रम स्थल पर जनजातीय कार्य विभाग, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, महिला एवं बाल विकास विभाग, ई गर्वेनेंस, लीड बैंक बैंक ऑफ इंडिया, कृषि विज्ञान केद्र, कृषि एवं किसान कल्याण, उद्यानिकी, सहकारिता, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास रोजगार, उद्योग एवं व्यापार केन्द्र तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा विकास कार्यों को लेकर प्रदर्शनी लगाई गई थी।
परियोजना से विद्युत उत्पादन मार्च 2023 में होगा प्रारंभ
नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री हरदीपसिंह डंग ने सौर परियोजनाओं की जानकारी दी। उन्होने बताया कि 1500 मेगा वॉट की इन सौर परियोजना में आगर जिले में 550 मेगा वॉट की 2 यूनिट 350़200, शाजापुर जिले में 450 मेगा वॉट की 3 यूनिट 105़220़125 और नीमच जिले में 500 मेगा वॉट की क्षमता की 3 यूनिट 170़160़170 मेगा वॉट स्थापित की जाएंगी। परियोजनाओं से मार्च 2023 में विद्युत उत्पादन प्रारंभ हो जाएगा। इस अवसर पर मध्यप्रदेश शासन के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्नसिंह तोमर, सूक्ष्मए लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी राज्यमंत्री एवं जिला प्रभारी बृजेन्द्रसिंह यादव, स्कूल शिक्षा स्वतंत्र प्रभार एवं सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री इंदरसिंह परमार, सांसद शाजापुर एवं देवास महेन्द्रसिंह सोलंकी, रोडमल नागर, विधायक नीमच दिलीपसिंह परिहार, सुसनेर विक्रमसिंह राणा, मनासा अनिरूद्ध माधव, माखनसिंह चौहान, अरूण भीमावद, संतोष बराड़ा, विजयसिंह बेस, दिनेश शर्मा, नवीन राठौर, विजय जोशी सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी, जन प्रतिनिधि, नागरिक एवं स्कूली छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*