Sat 31 10 2020
Home / Shajapur News / 13 अक्टूबर 2020 के न्यायिक आदेश
13 अक्टूबर 2020 के न्यायिक आदेश

13 अक्टूबर 2020 के न्यायिक आदेश

दुष्कर्मी का जमानत आवेदन निरस्त
शाजापुर। दुष्कर्मी का न्यायालय द्वारा जमानत आवेदन निरस्त किया गया है। न्यायालय द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शुजालपुर द्वारा आरोपी अर्जुनसिंह पिता तोलाराम गुर्जर 25 वर्ष निवासी मुबारिकपुर चिराटिया थाना अवंतीपुर बड़ोदिया का जमानत आवेदन पत्र अभियोजन की ओर से वीसी के माध्यम से संजय मोरे द्वारा दिए गए तर्कों से सहमत होते हुए निरस्त किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 26 फरवरी 2020 को शाम 06 बजे के करीब पीडि़ता और उसकी सास अपने खेत पर चने काट रही थी, तभी एक सफेद रंग की बोलेरो गाड़ी आई जिसमें लाड़सिंह, शांतिलाल, इन्दरसिंह और अर्जुन सवार थे। लाड़सिंह ने पीडि़ता के जबरन हाथ पकड़े, शांतिलाल ने पैर पकड़े तथा इन्दरसिंह ने मुंह दबाया और उसे उठाकर गाड़ी की पीछे वाली सीट पर डाल दिया। गाड़ी अर्जुन चला रहा था। पीडि़ता की सास चिल्लाई तो उसके साथ मारपीट की गई। आरोपी पीडि़ता को तराना ले गए और रास्ते में धमकी दी कि चिल्ला-चोंट की तो तुझे जान से मार देंगे। तराना में पूराने सूने मकान पर एक रात रखा और चारों ने बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म काम किया। दूसरे दिन गाड़ी से सीहोर लेकर गए जहां से शाम को आष्टा पहुंचे और यहां पुरानी लॉज में बारी-बारी से दुष्कर्म किया। इसके बाद चारों ने पीडि़ता को उज्जैन देवास गेट के पास किराए के मकान में ले जाकर रखा। पीडि़ता 24 जुलाई 2020 को आईजी कार्यालय पहुंची जहां से उसे महिला थाने भेज दिया गया। महिला थाने से उसे अवंतीपुर बड़ोदिया थाने पर भेजा गया जहां पीडि़ता ने घटना की रिपोर्ट लेखबद्ध कराई थी। 12 अक्टूंबर को न्यायालय द्वारा आरोपी अर्जुनसिंह का जमानत आवेदन पत्र निरस्त किया गया।
००००००००००००००००
छल करने वाले आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त
शाजापुर। होम लोन दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले आरोपी का न्यायालय ने जमानत आवेदन निरस्त कर दिया है। न्यायालय द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश शुजालपुर द्वारा आरोपी विक्रम पिता गुलाबसिंह राजपूत 42 वर्ष निवासी बी 10 भक्त नगर उज्जैन का जमानत आवेदन पत्र संजय मोरे के तर्कों से सहमत होते हुए निरस्त किया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 21 सितंबर 2019 को थाना शुजालपुर मंडी में सहायक उप निरीक्षक छत्रसालसिंह पंवार को आवेदक कालूसिंह धाकड़, चरणसिंह धाकड़, रूपसिंह धाकड़, राधेश्याम धाकड़, केशरसिंह धाकड़, ओमप्रकाश धाकड़, दिनेश धाकड़, निलेश धाकड़, मोतीसिंह धाकड़, माखनसिंह धाकड़ निवासी निपानिया थाना सुंदरसी का आवेदन पत्र पुलिस अधिक्षक से जांच हेतु प्राप्त हुआ था। जांच कथन में गवाहों ने बताया कि गांव में एसएमजी फायनेंशियल एण्ड लोन एडवायजरी सर्विसेस कंपनी द्वारा पम्पलेट छपवाकर होम लोन मंजूर करने का प्रचार-प्रसार किया गया। एसएमजी फायनेंशियल एण्ड लोन एडवायजरी सर्विसेस कम्पनी का उप कार्यालय अकोदिया नाका शुजालपुर पर था। उक्त सभी लोग होमलोन मंजूर करवाने के लिए कार्यालय पहुंचे तो कार्यालय में विक्रमसिंह नीतिराज और देववकील मिले जिनके द्वारा जमीन बंधक कर होम लोन मंजूर कराने के लिए फाईल चार्ज के 7500 रुपए, 3500 रुपए लॉगिन फीस एवं कोरे चेक हस्ताक्षर करवाकर लेकर बैंक से प्रत्येक के खाते से 1180 रुपए खाता चेक कराने के नाम पर चेक लिए गए थे। आवेदकों से लोन मंजूर कराने के नाम पर भूमि बंधक करवाई गई और प्रत्येक आवेदक से नगदी एवं चेक के माध्यम से 12180 रुपए लिए गए और बिना होम लोन मंजूर कराए जमीन बंधक कराकर नगदी रुपए, कोरे चेक लेकर कार्यालय बंद कर धोखाधड़ी की गई। आरोपियों के विरूद्ध थाना शुजालपुर मंडी पर अपराध पंजीबद्ध किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*